UP Board syllabus Class 12
UP board chapter 5 Class 12 I AM JOHN’S HEART
BoardUP Board
Text bookNCERT
Class 12th
SubjectEnglish
Chapter Chapter 5
Chapter nameI AM JOHN’S HEART
Chapter Number Number 1 Introduction
CategoryEnglish PROSE Class 12th
UP Board Syllabus Chapter 5 Class 12th English (Prose)
NumberChapter Number
1UP Board syllabus Chapter 5 Class 12th THE HORSE
2UP Board syllabus Chapter 5 Class 12th Summary of the Lesson
3UP Board syllabus Chapter 5 Class 12 Explanation
4UP Board syllabus chapter 5 Class 12 Comprehension
5UP board syllabus chapter 5 Class 12 Short Questions Answer
6UP board syllabus chapter 5 Class 12 Long Questions Answer
7UP board syllabus chapter 5 Class 12 FILL IN THE BLANKS

Introduction to the lesson

Introduction to the lesson : The writer of this lesson is J.D. Ratcliff. In this lesson the writer has described the structure and the function of the heart. The writer makes the human heart speak out its own story. Various functions of heart. beating, pumping, have been described clearly in the lesson. The writer has described the primary causes of the heart trouble and also the precautions for keeping the heart working well for a long time.

पाठ का परिचय

पाठ का परिचय : प्रस्तुत पाठ J.D. Ratcliff द्वारा लिखा गया है। इस पाठ में लेखक ने हृदय के ढाँचे और कार्यों का वर्णन किया है। पाठ में लेखक ने हृदय द्वारा स्वयं अपनी कहानी कहलवाई है। पाठ में हृदय के विभिन्न कार्यों-धड़कना, रक्त प्रवाहित करना, का वर्णन किया है। लेखक ने हृदय क्षति के प्रारम्भिक कारणों एवं लम्बे समय तक सही सलामत उसके कार्य करते रहने का वर्णन किया है।

पाठ का हिन्दी अनुवाद

Para1

Para1: कोई नहीं कह सकता कि मैं एक सुन्दर वस्तु हूँ। मेरा वजन 340 ग्राम है, रंग लाल-भरा है और बनावट प्रभावहीन है। मैं जॉन का स्वामिभक्त सेवक हूँ- उसका हृदय ।

Para 2

Para2. मैं उसके सीने के बीच में इंद, शक्तिशाली तन्तुओं से लटका हुआ हूँ। मैं लगभग 15 सेण्टीमीटर लम्बा हैं और मेरी अधिकतम चौड़ाई 10 सेण्टीमीटर है जो हृदय की परम्परागत बनावट की अपेक्षा नाशपाती के आकार से अधिक मिलती है। आपने कवियों से मेरे बारे में कुछ भी सुना हो, मैं बहत मावुक स्वभाव का पात्र नहीं हूँ। मैं केवल चार कोष्ठों (खानों) वाला एक परिश्रमी पम्प हूँ- वास्तव में दो पम्प हैं, एक फेफड़ों में रक्त भेजने के लिए, दूसरा उसे शरीर के अन्य भागों में पहुँचाने के लिए। मैं

प्रतिदिन लगभग 96000 किलोमीटर नसों में रक्त का प्रवाह करता हूँ। इतना प्रवाह तो 18000 लीटर की टंकी को भरने के लिए पर्याप्त है।

Para 3

Para 3 : जॉन जब कभी मेरे बारे में सोचता है तो वह मुझे कमजोर और कोमल समझता है। कोमल! जबकि मैं अब तक उसके तीन लाख टन से अधिक रक्त का प्रवाह कर चुका हूँ। मैं उससे दो गुना कठिन परिश्रम करता हूँ जितना कि किसी भारी वजन के विजेता मुक्केबाज के हाथों की मांसपेशियाँ
या एक धावक की टाँगों की मांसपेशियाँ कर पाती हैं। यदि वे मेरी गति से चलने का प्रयास करें तो वे मिनटों में धककर पस्त हो जाएँगे। बच्चे को जन्म वेने वाली स्त्री के गर्भाशय की मांसपेशियों को छोड़कर शरीर की कोई मांसपेशी मेरे बराबर शक्तिशाली नहीं है। लेकिन गर्भाशय की ये मासपेशियाँ सत्तर वर्ष तक दिन-रात इस कार्य में व्यस्त नहीं रहतीं जैसा कि मुझसे करने की आशा की जाती है।

Para 4

Para4: वास्तव में यह थोड़ी सी अतिशयोक्ति है। मैं निश्चय ही धड़कनों के बीच में थोड़ा विश्राम कर लेता हूँ। मेरे पायीं ओर के निलय को सिकुड़ने और शरीर में रक्त भेजने में लगभग 3/10 मेकण्ड का समय लगता है। तब मुझे आधा सेकण्ड का आराम का समय मिलता है। और, जब जॉन सोता रहता
है, उसकी रक्त वाहिनियों का अधिक प्रतिशत निष्क्रिय रहता है, क्योंकि मैं उनमें कोई रक्त प्रवाह नहीं करता, इसलिए मेरी धड़कन एक मिनट में सामान्य 72 से कम होकर 55 हो जाती है।

Para 5

Para 5: जॉन मुश्किल से ही मेरे विषय में कभी सोचता है-जो उसके लिए अच्छा है। में न चाहता कि वह एक कमजोर दिल का मालिक हो जाए और हम दोनों को परेशान करके सचमच परेशानी में डाल दे। जब वह मेरे बारे में चिन्ता करता है तो प्रायः सदैव गलत बातों के बारे में चिन्तित होता है।
एक रात, जब जॉन सोने को था, उसने अचानक समझा कि मैं बीच में एक बार धड़कना छोड़ गया हूँ। वह बहुत चिन्तित हुआ। क्या मैं उसे धोखा दे रहा था। उसे चिन्तित होने की आवश्यकता नहीं थी।

Para 6

Para6:समय-समय पर मेरी प्रज्वलन प्रणाली (चालक-शक्ति) क्षण मात्र को कार्य नहीं कर पाती ठीक जॉन की कार की प्रज्वलन प्रणाली की तरह। मैं अपनी स्वयं की बिजली पैदा करता हूँ तथा अपनी हलचल को आरम्भ करने के लिए तरंगें बाहर भेजता हूँ। परन्तु कभी-कभो मैं धड़क नहीं पाता हूँ. एक
धड़कन के ऊपर दूसरी धड़कन आ जाती है। ऐसा लगता है कि मेरा धड़कना बन्द हो गया है-परन्तु ऐसा नहीं है। जॉन को यह जानकर आश्चर्य होगा कि ऐसा कितनी ही बार उसके जाने बिना होता है।

Para 7

Para7: दिल की धड़कन को गिनना : भयानक स्वप्न के पश्चात् वह कभी-कभी जाग जाता है मेरी गति की उत्त्व तीव्रता देखकर चिन्तामग्न हो जाता है। उसो ऐसा लगता है मानो मैं दौड़ रहा हूँ। ऐसा इसलिए होता है कि जब वह अपने बुरे स्वप्नों के कारण चिन्तित हेकर दौड़ने लगता है तो मैं भी दौड़ने लगता हूँ। जॉन की चिन्ताएँ वास्तव में स्थिति खराब कर देती हैं-मेरी गति और भी तेज कर देती हैं। यदि वह शान्त हो जाए, तो मैं भी शान्त हो जाऊँ। परन्तु यदि वह शान्त हो सके तो मुझे सामान्य बनाने का एक उपाय है। खोपड़ी की नसें एक ब्रेक का काम करती है। वे कानों के पीछे जबड़े के जोड़ पर गर्वन में से होकर गुजरती हैं। यहाँ हल्की मालिश करने से मेरी धड़कन धीमी हो जाती है।

Para 8

Para8: थकान से लेकर चक्कर आने के दौरे पड़ने तक जॉन मुझे दोषी ठहराता है। उसकी थकान से मेरा कोई सम्बन्ध नहीं है और उसके कमी-कभी पड़ने वाले चक्करों का सम्बन्ध उसके कानों से है। समय-समय पर अपनी मेज पर बैठकर कार्य करते-करते उसे अपनी छाती में तेज दर्द महसूस होता है। वह डरता है कि उसे दिल का दौरा पड़ने वाला है। उसे चिन्तित नहीं होना चाहिए। यह दर्द तो से पाचन मार्ग से आता है जो उसके द्वारा कुछ घण्टों पहले खाये गये भारी भोजन का परिणाम है। जब
मैं परेशानी में होता हूँ तो केवल अत्यधिक परिश्रम या सम्वेदना के बाद ही में अधिकतर दर्द के संकेत भेजने लगता हूँ। इस प्रकार में उससे कहता हूकि जितना कार्य भार वह मुझ पर डाल रहा है उसे झेलन योग्य पर्याप्त ताकरा मुझे प्राप्त नहीं हो रही है।

Para 9

Para 9: मुझे मेरी पौष्टिकता कैसे प्राप्त होती है? निस्सन्देह खून से! यद्यपि मैं शरीर के भार के अटल 2100 भाग का प्रतिनिधित्व करता हूं तो भी मुझे रक्त आपूर्ति का लगभग 1/20 भाग चाहिए। सका अर्थ है कि मैं शरीर के अन्य अगीव तन्तुओ द्वारा प्रयोग में लाये गये पोषण का लगभग वस गुना
उपयोग करता हूँ।

Para 10

Para 10: किन्तु मैं अपने चारों प्रकोष्ठों से गुजरने वाले रक्त से पोषण प्राप्त नहीं करता। मुझे अपनी ही दो धमनियों से पोषण मिलता है जो शाखाओं वाले छोटे पेड़ों जैसी हैं जिनके तमे पेय पदार्थ पीने वाली नलिकाओं से अधिक मोटे नहीं होते हैं। यही मेरा कमजोर स्थान है। इस स्थान पर परेशानी होना मृत्यु का सबसे बड़ा कारण होता है।

Para11

Parall: कोई नहीं जानता कि यह कैसे होता है। परन्तु जीवन के आरम्भ मैं कभी-कभी जन्म के समय भी-कोरोनरी धमनियों में चर्वी वाले जमाव शुरू हो जाते हैं। धीरे-धीरे ऐसे जमाव किसी भी धमनी को बन्द कर सकते है या इसके पास रक्त का थक्का बन सकता है और इसे अकस्मात् बन्द कर
सकता है। .

Para1

Para 12: जब एक धमनी में रक्त प्रवाह का मार्ग रुक जाता है तो जदय की मांसपेशी का वह भाग जिसका पोषण यह धमनी करती है, मर जाता है। इससे घाव के निशान जैसा ऊतक बन जाता है-यह निशान छोटे कंचे से बड़ा नहीं होता, लेकिन यह टेनिस की गेंद के आकार से आधा भी हो सकता है।
संकट की गम्भीरता रुकी हुई धमनी के आकार और स्थिति पर निर्भर करती है।

Para13

Para13:पाँच वर्ष पहले जॉन को दिल का दौरा पड़ा था और उसे इसका पता भी नहीं चला। वह अपने कार्य में इतना व्यस्त था कि वह अपने सीने में उस तनिक से परन्तु अचानक तेज दर्द पर ध्यान नहीं दे सका। जो धमनी रुकी थी वह मेरी पीछे की दीवार पर बहुत छोटी सी थी! मरे हुए ऊतक को
हटाने और उस स्थन पर पड़े मटर जितने बड़े घाव के निशान को ठीक करने में मुझे दो सप्ताह का समय लगा।

Para14

Para 14:जॉन उस परिवार में पैदा हुआ है जिसमें अक्सर दिल के रोग हुआ करते है, अतः ऑकड़े बताते हैं कि मैं भी उसे कष्ट दूंगा। वास्तव में वह वंश परम्परा के प्रति कुछ नहीं कर सकता लेकिन खतरे को कम करने में तो वह बहुत कुछ कर सकता है।

Para15

Para 15: हम अधिक वजन के बारे में बात करें। अधेड़ उम्र में अपने शरीर के फैल जाने की बात को जॉन मजाक करता है, किन्तु यह कोई हंसने की बात नहीं है। आवश्यकता से अधिक प्रत्येक किलो ची में करीब 700 किलोमीटर कोशिकाएँ होती हैं, जिनमें से मुझे खुन भेजना होता है. इसके अतिरिक्त प्रत्येक अधिक किलो वजन के लिए भी काम करना होता है।

Para16

Para16: अब मैं जॉन के रक्तचाप के बारे में बात करता हूँ। उसकी उम्र के सामान्य व्यक्ति के रक्तचाप की उच्चतर सीमा 140/90 है। 140 उस चाप का माप है जिसके विरुद्ध मुझे सिकुड़ते हुए कार्य करना पड़ता है और 90 मेरी दो धड़कनों के बीच आराम करने के समय का चाप है। नियला अंक
अधिक महत्वपूर्ण है। यह अंक जितना ही ऊपरा जाता है उतना ही मुझे कम आराम मिलता है। पर्याप्त आराम के बिना तो वृदय स्वयं मृत्यु की ओर जा रहा होता है।

Para17

Para 17 : ऐसे कई कार्य हैं जिन्हें जॉन अपने रक्तचाप को सुरक्षित स्तर पर लाने के लिए कर सकता है। पहला है अतिरिक्त भार से छुटकारा पाना इसके परिणामस्वरूप रक्तचाप में आने वाली गिरावट को देखकर वह स्वयं आश्चर्य में पड़ जाएगा।

Para18

‘Para18: दूसरी चीज है धूम्रपान | जॉन एक दिन में 40 सिगरेट पीता है-इसका तात्पर्य है कि वह प्रत्येक 24 घण्टे में निकोटिन की पर्याप्त मात्रा अपने अन्दर ग्रहण कर लेता होगा। वह बहुत तेज हानिकारक पदार्थ है। यह धमनियों के संकुचित कर देता है–विशेषरूप से हाथों और पैरों की धमनियो
को-जिससे वह चाप बढ़ जाता है जिसके विरुद्ध मुझे कार्य करना पड़ता है। यह मुझे उत्तेजित भी करता है जिससे मैं तेजी से धड़कने लगता हूँ: एक सिगरेट मेरी धड़कन को सामान्य 72 से बढ़ाकर 80 तक कर देती है। जॉम अपने मन में कहता है कि अब धूम्रपान छोड़ने को बहुत देर हो गई है-हानि तो हो चुकी है। परन्तु यदि वह निकोटिन की लगातार उत्तेजना से छुटकारा पा सके तो मेरे लिए अपना कार्य करना आसान हो जाएगा।

Para19

Para 19 : उच्चतर पर संघर्ष : अन्य दूसरे तरीकों से भी जॉन मेरी सहायता कर सकता है। वह सफल व्यापारी के समान स्पर्धा करने वाला महत्वाकांक्षी व्यक्ति है। वह इस बात को नहीं जानता कि इसके लगातार चिन्ता करते रहते से उसकी एड्रेनिल ग्रन्थि लगातार उत्तेजित होती रहती है जो अधिक
मात्रा में एड्रेनिल तथा नोरेड्रेनेलिन को उत्पन्न करने लगती है। इसका वही प्रभाव होता है जो कि निकोटिन का होता है। धमनियाँ तंग हो जाती हैं, रक्त-दाब ऊँचा हो जाता है, मेरे लिए अधिक तेज चौड़ने की आवश्यकता बन जाती है।

Para20

Para 20 : खास बात यह है : यदि जीन शान्त होता है तो मुझे भी आराम मिलता है। कभी-कभी थाहा सी झपकी भी सहायक हो सकती है। जो सामग्री वाह कार्यालय से घर लाता है उसके स्थान पर उसे
कुछ हल्का-फुल्का मनोरंजक साहित्य पढ़ने का प्रयल करना चाहिए।

Para21

Para 21 : एक अन्य बात है व्यायाम। जॉन सप्ताहान्त के खिलाड़ियों में से एक है जो एक साथ अत्यधिक व्यायाम करते हैं। टेनिस में अब भी उसे जाल तक दौड़ने का शौक है; परन्तु जब वह ऐसा करता है तो मेरा सामान्य कार्यभार पांच गुना बद जाता है।

Para22

Para 22 : जॉन को नियामित रूप से हल्का व्यायाम करते रहना चाहिए। एक दिन में एक या दो किलोमीटर टहलना लाभप्रद है। दो जीने घदकर अपने कार्यालय जाने से भी उसे हानि नहीं होगी। उसका कार्यालय दसवीं मंजिल पर है, परन्तु वह पहले दो जीने चद सकता है, फिर लिफ्ट में बैठ जाए। इस प्रकार की छोटी-छोटी बातें काफी लाभ पहुंचा सकती हैं। जैसा मैंने कहा था, चर्बी के जमाव से मेरी कुछ धमनियों पहले ही रुकने लगी हैं। लेकिन नियमित व्यायाम से रक्त संचार के लिए नये रास्ते खुल जायेंगे। जब यदि एक धमनी बन्द भी हो जाती है तो मुझे अन्य धमनियों से पोषण मिल जाता है।

Para 23

Para23 : अन्त में खुराक है। मैं जॉन से खुराक के प्रति कट्टर बनने को नहीं कह रहा हूँ। फिर भी ऐसा प्रतीत होता है कि चर्बी मेरी धमनियों में उन रुकावटों को बनाने में कुछ कार्य करती है। जॉन अपनी । कैलोरियों का 45% चर्बी से प्राप्त करता है। औद्योगिक देशों में उन अन्य लोगों की तरह जो इसी प्रकार । का भोजन करते हैं. धमनियों की रुकावट के कारण मृत्यु की सम्भावना 50-50 है।

Para24

Para24 : मैं बहुत अधिक कामनाएँ नहीं करता हूँ। मैं किसी भी परिस्थिति में जॉन के लिए अच्छे से अच्छा करूँगा। उसी प्रकार मैं चाहता हूँ कि वह मुझे कभी-कभी आराम दे। शरीर को थोड़ा सा हल्का कर ले, नियमित व्यायाम करे, थोड़ा अधिक आराम करे, चिकनाई वाले पदार्थों और धूम्रपान का प्रयोग कम करे। यदि यह केवल इन बातें को ही कर ले तो मैं जॉन के लिए लम्बे समय तक कार्य करता रह सकता हूँ।

UP Board Syllabus Chapter 5 Class 12th English (Prose)
NumberChapter Number
1UP Board syllabus Chapter 5 Class 12th THE HORSE
2UP Board syllabus Chapter 5 Class 12th Summary of the Lesson
3UP Board syllabus Chapter 5 Class 12 Explanation
4UP Board syllabus chapter 5 Class 12 Comprehension
5UP board syllabus chapter 5 Class 12 Short Questions Answer
6UP board syllabus chapter 5 Class 12 Long Questions Answer
7UP board syllabus chapter 5 Class 12 FILL IN THE BLANKS

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

61 + = 66

Share via
Copy link
Powered by Social Snap